अकीदतमंदों ने प्रेम-भाईचारे और सौहार्द की मांगी विशेष दुआएं

👉 कैराना क्षेत्र में अकीदत से अदा हुई ईद-उल-अज़हा की नमाज
👉 खुले में कुर्बानी न करने का किया आह्वान
कैराना। नगर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में ईद-उल-अज़हा की नमाज बड़े ही अकीदत के साथ शांतिपूर्ण तरीके से अदा की गई। इस अवसर पर मुसलमानों ने खुदा की बारगाह में हाथ उठाकर प्रेम-भाईचारा और सौहार्द की विशेष दुआएं मांगी। पेश इमाम ने खुले में कुर्बानी न करने का आह्वान किया। वहीं, विशेष साफ-सफाई के साथ-साथ सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी फोर्स के साथ अलर्ट नजर आए।
    सोमवार को क्षेत्र में ईद-उल-अज़हा का त्योहार बड़े ही धूमधाम और हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर प्रातः 6:15 बजे नगर की प्राचीन ईदगाह के मैदान में जामा मस्जिद के शाही इमाम मौलाना ताहिर हसन द्वारा हजारों मुसलमानों को ईद-उल-अज़हा की नमाज अकीदत के साथ अदा कराई गई। नमाज अदा करने के पश्चात खुदा की बारगाह में हाथ उठाकर देशभर में अमन-शांति, आपसी भाईचारा और सौहार्द के लिए विशेष दुआएं मांगी गई।
      इससे पूर्व मौलाना ताहिर हसन ने अपने संबोधन के दौरान कहा कि त्योहार का उद्देश्य किसी की भावना को ठेस पहुंचाने का नहीं होता, बल्कि खुशियां बांटने का होता है। ईद-उल-अज़हा के पर्व पर ऐसा कोई भी कृत्य ना करें, जिससे किसी की भावना आहत हो। उन्होंने खुले में कुर्बानी ना करने और खुले में पशुओं के अवशेष न फेंकने का भी आह्वान किया।      
   वही, दूसरी ओर प्रातः 6:30 बजे कैराना कस्बे की प्राचीन जामा मस्जिद में मौलाना अतहर हसन तथा प्रातः 9 बजे नगर के प्रमुख पानीपत खटीमा राजमार्ग पर स्थित प्रसिद्ध मदरसा इशा अतुल इस्लाम वाली मस्जिद में हजरत मौलाना बरकतुल्लाह अमीनी ने ईद-उल-अज़हा की विशेष नमाज अदा करायी।          
       उक्त के अलावा नगर की प्रमुख मस्जिदों तथा ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित ईदगाहों व प्रमुख बड़ी मस्जिदो में भी ईद-उल-अज़हा की विशेष नमाज अदा की गई। सुरक्षा के दृष्टिगत एसडीएम स्वप्निल कुमार यादव, सीओ अमरदीप मौर्य व कोतवाली प्रभारी निरीक्षक वीरेंद्र कसाना पुलिस फोर्स के साथ अलर्ट नजर आए।
---
तीन दिनों तक चलेगा कुर्बानी का सिलसिला
सोमवार को ईद-उल-अजहा की नमाज संपन्न होने के बाद कुर्बानी का सिलसिला भी शुरू हो गया है। इस पर्व पर मुस्लिम समाज के लोगों द्वारा पशुओं की कुर्बानी की जाती है। अगले तीन दिनों तक कुर्बानी का सिलसिला जारी रहेगा।
        उधर, नगर पालिका परिषद कैराना के अध्यक्ष शमशाद अहमद अंसारी ने नगरवासियों से खुले मे कुर्बानी ना करने और अवशेष इधर-उधर ना फेंकने की अपील की है।
........................